प्राथमिक विद्यालयों में हैप्पीनेस पाठ्यक्रम शुरू होंगे

उत्तर प्रदेश” जी हा फ्रेंड्स अब उत्तर प्रदेश सरकार ने एक बहोत बड़ा डिसीज़न लिया है . जिससे आने वाले new session से उत्तर प्रदेश के सभी प्राइमरी स्कूलों में बहोत बड़ा बदलाव आने वाला है। And आने वाले समय में हमारे प्राइमरी स्कूलों में शिच्छा का अस्तर भी काफी ऊपर उठेगा। जहा आज के टाइम में लोग अपने बच्चो को प्राइमरी स्कूलों में नहीं पढ़ना चाहते वही सरकार का ये प्रयास लोगो की सोच को भी बालने में काफी अहम भूमिका निभा सकता है। so इसलिए उत्तर प्रदेश सरकार प्राथमिक विद्यालयों में हैप्पीनेस पाठ्यक्रम शुरू होंगे ।

अब उत्तर प्रदेश सरकार भी छत्तीसगढ़ और दिल्ली की तरह ही प्राथमिक स्कूलों में छात्रों को प्रकृति, समाज और देश के प्रति अधिक संवेदनशील बनाने के लिए ‘हैप्पीनेस पाठ्यक्रम’ को पायलट प्रोजेक्ट के तहत लागू करने की तैयारी कर चुकी है . So इस प्रोजेक्ट को आने वाले नए सत्र से एक्टिव कर दिया जायेगा जिससे बच्चो को प्रकृति, समाज और देश से सम्बंधित विषयो पर बहोत कुछ सिखने को मिलेगा।

राज्य शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशिक्षण संस्थान में छह दिवसीय कार्यशाला में भाग लेने आए राज्य प्रभारी (हैप्पीनेस पाठ्यक्रम) सौरभ मालवीय ने बताया कि उत्तर प्रदेश की भौगोलिक और सांस्कृतिक परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए पाठ्यक्रम विकसित किया जा रहा है।

1 से 8 तक के छात्रों के लिए पाठ्यक्रम की तैयारी

कक्षा 1 से 8 तक के छात्रों के लिए हैप्पीनेस पाठ्यक्रम पेश किया जाएगा . यह उन्हें अपने, परिवार, समाज, प्रकृति और देश से जुड़ने में सक्षम बनाएगा . इससे उन्हें अंतर्संबंधों को समझने में भी मदद मिलेगी, मालवीय ने कहा, बच्चों को जोड़कर ध्यान भी सिखाया जाएगा।

पायलट प्रोजेक्ट के तहत 15 जिलों के 150 स्कूलों को पाठ्यक्रम पर काम करने को कहा गया है . उन्होंने बताया कि कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों के लिए पांच पुस्तकें तैयार की जाएंगी इसी क्रम में 32 शिक्षकों की कार्यशाला आयोजित कर पाठ्यक्रम की विषय वस्तु तैयार की जा रही है.

कार्यशाला में प्रशिक्षक के रूप में भाग लेने वाले श्रवण शुक्ला ने कहा कि अप्रैल 2022 से शुरू होने वाले अगले सत्र से पाठ्यक्रम को लागू करने की तैयारी चल रही है।

शुक्ला ने बताया कि उत्तर प्रदेश में 1,30,000 प्राथमिक विद्यालय हैं जहां सात लाख शिक्षक कार्यरत हैं . उन्होंने कहा कि प्रायोगिक परियोजना के मूल्यांकन के आधार पर राज्य सरकार सभी स्कूलों में हैप्पीनेस पाठ्यक्रम लागू करने पर विचार कर सकती है। Finally नई सेशन से प्राथमिक विद्यालयों में हैप्पीनेस पाठ्यक्रम शुरू होंगे .

So यूपी सरकार अगले सत्र से प्राथमिक स्कूलों में ‘हैप्पीनेस पाठ्यक्रम’ शुरू करेगी because It’s important for all प्राथमिक विद्यालय .

Know more about: What is the school management system

Create account for your school: Register Now For Free but you can fully automate your school

Leave a Reply

Your email address will not be published.